कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा- किसान अब एमएसपी नहीं एमआरपी पर अपना माल बेचेगा

इंदौर। कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा- किसान अब एमएसपी नहीं एमआरपी पर अपना माल बेचेगा। कृषि मंत्री कमल पटेल ने सोमवार को रेसिडेंसी कोठी पर चर्चा में कहा कि किसान अब एमएसपी नहीं एमआरपी पर अपना माल बेचेगा। किसान कानून को लेकर कुछ लोग भ्रम फैला रहे हैं। ये लगातार अंबानी-अडानी की रट लगाए बैठे हैं। क्या ये छह साल में पैदा हुए हैं। ये नेहरू जी के समय से हैं। देश में आज 5 लाख लोग हैं जो करोड़पति से ऊपर हैं। बाकी पूरा देश गरीब है।

किसान की साल की आय मात्र 7200 रुपए है। मेहनत करता है किसान, माल कमाते हैं ये। इनके लिए क्या किसान अब खेती करेगा। अब हमारे युवा खेती करेंगे, फैक्ट्री लगाकर बिचौलियों को हटाते हुए सीधा निर्यात करेंगे। यह कानून किसानों के हित में है, इसलिए किसान इसका समर्थन कर रहा है। किसान अब एमएसपी नहीं एमआरपी पर अपना माल बेचेगा। यह बात कृषि मंत्री कमल पटेल ने सोमवार को रेसिडेंसी कोठी पर मीडिया से चर्चा में कही।

कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी

उन्होंने पंजाब के किसानों द्वारा किए जा रहे आंदोलन को लेकर कहा कि हमारे यहां पर एमएसपी पर सोसायटी खरीदी करती है। पंजाब में व्यापारी खरीदी करता है। वहां पर पेस्टीसाइड का उपयोग ज्यादा होता है। ऐसे में बिचौलिए रेट गिराकर खरीदी के लिए किसानों को मजबूर करते हैं। इस कानून के बाद वहां के व्यापारी और बड़े खरीदारों की मोनोपॉली खत्म होने वाली है, इसलिए वे किसानों को भड़का रहे हैं। किसान इस देश की रीढ़ है। यदि यह मजबूत नहीं होगा तो देश मजबूत नहीं होगा।

भारत के लिए किसानों का आत्मनिर्भर होना जरूरी है। इसलिए मोदी सरकार ने कृषि कानून में संशोधन किए। जो किसानों को गुमराह कर रहे हैं, यह कानून बिचौलिए को हटाने का कानून है। इस कानून के बाद 2022 तक किसानों की आय दोगुनी होगी। किसान अब अपनी खुद की फैक्ट्री लगा सकते हैं। उनके खुद के कोल्ड स्टोरेज, फूड प्रोसेसिंग प्लांट होंगे। हमारी सरकार इसके लिए 1 लाख करोड़ का अनुदान देश के अन्नदाताओं को देने जा रही है। फसल खराब होने पर किसानों को बीमा दिया जा रहा है। अब तक 43 हजार किसानों को 8734 रुपए का बीमा दिया गया है।

यह भी पढ़े : इंदौर में बोले द ग्रेट खली, जहां बात से काम बन जाए तो अच्छा अन्यथा लात चलाना पड़ती है

Rama Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *