यवतमाल ‘किसान रैली’ की रद्द, बीकेयू नेता राकेश टिकैत डरे एक फर्जी कॉल से

दिल्ली की सीमाओं पर ‘किसान विरोध प्रदर्शन’ का नेतृत्व कर रहे भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत को महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में एक मेगा रैली करनी थी। एक अज्ञात फर्जी कॉल की वजह से राकेश टिकैत को अपना फैसला बदलना पड़ा। फर्जी कॉल करने वाले ने खुद को SP बताया और यहाँ आने पर उन्हें 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में रखने की चेतावनी दी।

बीकेयू नेता राकेश टिकैत द्वारा संबोधित एक रैली में भाग लेने के लिए राज्य भर से 1 लाख से अधिक किसान यवतमाल पहुँचने वाले थे। महाराष्ट्र में फिर से कोरोना का प्रकोप बढ़ रहा है तो इसे देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने रैली के लिए अनुमति देने से इनकार कर दिया।  इसके बाद किसान मोर्चा ने नया आवेदन देते हुए कहा कि रैली में 50 से अधिक लोग शामिल नहीं होंगे। दूसरे आवेदन को भी महाराष्ट्र सरकार ने खारिज कर दिया।

राकेश टिकैत अब करेंगे एक ऑनलाइन संबोधन

किसान मोर्चा के महाराष्ट्र विंग से संदीप गिद्दी पाटिल के अनुसार, टिकैत को एक कॉल आई थी, जिसने खुद को यवतमाल का एसपी बताया था। उन्होंने टिकैत को जिले का दौरा करने के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि अगर बीकेयू नेता यवतमाल का दौरा करते हैं, तो उन्हें दो सप्ताह के लिए क्वारंटाइन में रखा जाएगा। क्वारंटाइन में रहने पर गाजीपुर साइट पर विरोध प्रदर्शन बाधित हो जाएगा।

पाटिल ने आगे कहा कि जब यह पुष्टि की गई कि यवतमाल एसपी दिलीप भुजबल द्वारा कॉल नहीं किया गया था, तो यह स्पष्ट हो गया कि टिकैत को महाराष्ट्र में एक रैली को संबोधित करने से रोकने के लिए एक फर्जी कॉल किया गया था। टिकैत अब एक ऑनलाइन संबोधन करेंगे और बाकी के कार्यकर्ता यवतमाल में बैठक में भाग लेंगे। यवतमाल एसपी ने कहा कि उन्होंने केवल आयोजकों को कॉल कर उनसे कड़ा रुख अपनाने को कहा था।

यह भी पढ़े : चंदन नगर पुलिस की राशन माफियाओं के विरूद्ध कार्यवाही, दो आरोपी गिरफ्तार

Rama Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *