मुख्यमंत्री ने दिए संकेत- MP में पत्थरबाजों के खिलाफ कानून ला सकती है सरकार

भोपालः मुख्यमंत्री ने दिए संकेत- MP में पत्थरबाजों के खिलाफ कानून ला सकती है सरकार। पिछले दिनों उज्जैन, इंदौर, नीमच और मंदसौर में हुई पत्थरबाजी की घटनाओं पर मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश में हर कीमत पर अमन-चैन कायम रहना जरूरी है। यदि कोई गड़बड़ करेगा, उसे छोड़ा नहीं जाएगा। उन्होंने यह भी कहा, माफिया और मिलावटखोरों के खिलाफ अभियान में ढिलाई न की जाए। माफियाओं को संरक्षण देने वाले अफसर भी संभल जाएं। सीएम ने संकेत दिए हैं कि सरकार पत्थरबाजों के खिलाफ कानून भी ला सकती है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा, सरकार को पब्लिक से बेहतर फीडबैक कोई नहीं देता। पब्लिक का प्रतिनिधित्व विधायक और मंत्री करते हैं। इसलिए अफसरों को उनकी लीडरशिप में काम करना है। उन्होंने कहा- यह दुर्भाग्य है कि किसी अफसर को डांट देता हूं, तो जनता ताली बजाती है। ऐसा लगता है कि अफसरों के प्रति कहीं अविश्वास सा है। ये नहीं होना चाहिए। आप जनता के बीच विश्वास बनाएं, उनकी बात सुनें और समस्याएं दूर करें।

मुख्यमंत्री ने बताए नए साल के 5 सूत्र

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों से कहा कि विभाग की लंबित परियोजनाओं की मॉनिटरिंग बढ़ाइए। ऐसी योजनाएं जो उपयोगी नहीं है, उनकी सूची बनाएं। सरकारी सेवाओं के लिए विभाग सिंगल विंडो के लिए काम करे और श्रम सुधारों को प्रभावी रूप से लागू करें। इससे पहले मुख्यमंत्री ने सरकार की वर्ष 2021 की डिजिटल डायरी और डिजिटल कैलेंडर का विमोचन किया। बैठक में उपस्थित मंत्रियों अधिकारियों को नव वर्ष की शुभकामना दी।

CM ने बताए नए साल के 5 सूत्र
1 – सुशासन : जनता के काम बिना परेशानी के निश्चित सीमा में किए जाएं। वह भी बिना लेन-देन के, यह सुशासन है। इसके लिए टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल हो। राजस्व विभाग इस दिशा में कई फैसले लिए हैं।
2 – महिलाओं का सशक्तिकरण : आर्थिक, सामाजिक, शैक्षणिक और सुरक्षा की दृष्टि से ताकतवर बनाना है। मां, बहन और बेटी सम्मान के साथ जीवन व्यतीत करें। उनके सम्मान की तरफ कोई आंख उठाकर न देख पाए।
3 – आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश : रोजगार उपलब्ध कराना प्राथमिकता। अफसर सरकारी नौकरियों के अलावा रोजगार के अन्य विकल्पों पर भी काम करें। मंत्री अपने-अपने विभाग के अंतर्गत इस दिशा में योजनाएं तैयार करें।
4 – केंद्र में किसान : वर्ष 2020 में विभिन्न योजनाओं के तहत केवल किसानों के खाते में ही 82 हजार करोड़ रुपए ट्रांसफर किए। अब किसानों का दोगुना करने पर फोकस यानी फसल की लागत कम, मुनाफा ज्यादा। इस काॅन्सेप्ट पर काम होगा।
5 – गरीबों का कल्याण: मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकारी खजाने पर पहला हक गरीबों का है। सरकारी योजनाओं का लाभ हर गरीब तक पहुंचे। इस संकल्प के साथ काम करना है। गरीबों का कल्याण सरकार की प्राथमिकता है।

यह भी पढ़े : बेटी डीएसपी और पिता एसआई, पिता थाने में बेटी को करते हैं सैल्यूट

Rama Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *