फर्जी निकली इंदौर गैंगरेप की घटना: युवक को फंसाने के लिए रची थी साज़िश

MMD न्यूज़, रईस बेग, इंदौर। फर्जी निकली इंदौर गैंगरेप की घटना: युवक को फंसाने के लिए रची थी साज़िश। भगीरथ पूरा रेलवे ट्रैक पर मंगलवार रात 19 वर्षीय छात्रा से गैंगरेप का मामला पूरी तरह से पुलिस जांच में फर्जी निकला है। आरोप लगाने के 24 घंटे बाद ही युवती ने जुर्म कबूल कर लिया है। युवती ने पुलिस को बताया कि वह कुछ पुरानी घटनाओं से परेशान थी और सुसाइड करने रेलवे ट्रैक पर गई थी। वहां पर उसने युवक को फंसाने का प्लान बनाया।

अब पुलिस सबूतों औऱ मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर इस केस को खारिज करने और युवती के खिलाफ झूठी शिकायत और साजिश रचने की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज करेगी। पुलिस अधिकारियों ने छात्रा के अनुसार बताए घटनाक्रम को रीक्रिएशन किया और उस घटनाक्रम को सही साबित नहीं कर पाए । पुलिस को बुधवार सुबह रेलवे कॉलोनी के पास से जो वीडियो फुटेज मिले थे, उसे देख युवती कंफ्यूज हो गई थी। पुलिस को पहले ही शक हो गया था। इसके बाद युवती भी लगातार अपने बयान से पलट रही थी।

फ़र्ज़ी गैंगरेप की साजिश रचने के पीछे युवती का मकसद क्या था? पुलिस कर रही कई बिन्दुओ पर जाँच

पुलिस को समझ आ गया था कि युवती उन्हें गुमराह कर रही है। बुधवार दोपहर पुलिस ने अक्षय नामक युवक के पल-पल के फुटेज निकाले। इसमें साफ हो गया कि अक्षय घटनास्थल के आसपास भी नहीं गया था। उसके बयानों के मुताबिक घर से लेकर हनुमान मंदिर तक उसकी बताई पूरी घटना कैमरे में कैद हुई थी। मेडिकल रिपोर्ट में भी गैंगरेप की पुष्टि नहीं हुई और छात्रा के शरीर पर जो घाव पाए गए वह चाकू के नहीं बल्कि self-injury बताई गई जो उसने कटर से किये थे।

छात्रा का कहना था कि वह एक पुराने मामले में रेल पटरी पर आत्महत्या करने गई थी। लेकिन तभी उसका विचार बदला और उसने प्लानिंग कर यह राज साजिश रची। अब पुलिस ऑफिसर युवती से ये मालूम कर रहे हैं कि इस घटना के पीछे उसका मकसद क्या था। वह अक्षय को ही क्यों फसाना चाह रही थी। पुलिस की मानें तो अक्षय के पास युवती के कुछ विडियो हैं। पीड़िता भी कई बार अपने बयान में इस बात का जिक्र कर चुकी है। पीड़िता घर से भागीरथपुरा किस रास्ते से गई, इस बिंदु पर जांच की जा रही है।

यह भी पढ़े : नकली नोट छापने वाले 4 आरोपी गिरफ्तार, 2 लाख रुपए और छपाई का सामान किया जब्त

Rama Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *