अमित शाह बने लोक गायक के मेहमान, बाउल गायक के घर किया भोजन

बंगाल। अमित शाह बने लोक गायक के मेहमान, बाउल गायक के घर किया भोजन। पश्चिम बंगाल के बीरभूम में अमित शाह वासुदेव बाउल के घर पहुंचे। यहां पहले बाउल गायकों ने पारंपरिक संगीत के साथ अमित शाह का स्वागत किया। इसके बाद शाह समेत बीजेपी के कई नेता भोजन पर बैठे।

गृह मंत्री शाह ने बंगाल दौरे के पहले दिन यानी शनिवार को मिदनापुर में किसान सनातन सिंह के घर भोजन किया तो आज दूसरे दिन दोपहर में अमित शाह बीरभूम में बाउल गायक के घर खाना खाने पहुंचे। शाह ने दूसरे बीजेपी नेताओं के साथ जमीन पर बैठकर दोपहर का भोजन किया। अमित शाह ने एक बाउल गायक के घर बिल्कुल साधारण खाना खाया। बीजेपी नेताओं को केले के पत्ते पर भोजन में चावल, दाल, रोटी, लौकी की तरकारी, खजूर की चटनी, खीर, मिठाई परोसी गई।

अमित शाह के बंगाल दौरे में दिखी बांग्ला संस्कृति की झलक

बाउल समुदाय की पश्चिम बंगाल में लगभग 5000 की आबादी है। इनका संगीत बंगाल में काफी लोकप्रिय है। राज्य सरकार इन्हें जीवन-यापन के लिए 2 हजार रुपये देती है। बंगाल की जनता इनके गीत संगीत पर नाचती-थिरकती है। इसलिए बीजेपी संख्या में कम इस समुदाय के साथ नजदीकियां बढ़ा रही है। दरअसल बीजेपी बंगाल की स्थानीय संस्कृति और रीति रिवाजों को अपनाकर बंगाल के दिल में उतरने की कोशिश कर रही है। फिर यहां से बीजेपी को सत्ता का रास्ता तय करना है।

इन उपायों के जरिए बीजेपी टीएमसी के उन आरोपों का भी जवाब दे रही है। जंहा टीएमसी बार बार कहती आ रही है कि बीजेपी के लोग बाहरी हैं। यही वजह है कि अमित शाह बंगाली अस्मिता के तमाम नायकों को नमन कर रहे हैं। फिर इनमें स्वामी विवेकानंद, खुदीराम बोस, रबींद्रनाथ टैगोर क्यों न हो? सुभाष चंद्र बोस बीजेपी के नायकों में पहले ही शामिल हो चुके हैं। बीरभूम को लाल मिट्टी की भूमि भी कहते हैं। यहां पर लोकसभा की दो और विधानसभा की 11 सीटें हैं।

यह भी पढ़े : भकलाय ग्राम पंचायत में सचिव पर 55 लाख के घोटाले में प्रकरण दर्ज है

Rama Yadav

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *