राम मंदिर निर्माण हेतु नगर में जन-जागरण अभियान जोरो पर, मंडल बैठकों का दौर जारी

MMDNEWS, अमन वर्मा, मण्डलेश्वर। राम मंदिर तीर्थ क्षेत्र न्यास द्वारा अयोध्या में जन सहयोग से बनने वाले भव्य राम मंदिर के समर्पण हेतु जन-जागरण अभियान नगर एवं समीपस्थ क्षेत्रो में जोरो पर जारी है। महेश्वर खंड के सह मीडिया प्रभारी चैतन्य पटवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर की बस्ती की महिलाओं द्वारा भजन कीर्तन करते हुए जन जागरण का कार्य आरम्भ किया गया।

राम मंदिर निर्माण हेतु प्रतिदिन सुंदर कांड पाठ एवं रामधुन

नगर की बस्ती के जेल रोड मोहल्ले के भीलट मंदिर पर प्रतिदिन सुंदर कांड पाठ एवं रामधुन के आयोजन किस शुरुवात की गई। इस अवसर पर भीलट मंदिर पर सुंदर कांड करने वाले श्रद्धालुओं को अभियान के नगर संयोजक ब्रह्मदत्त चौहान के सौजन्य से सुंदर कांड पुस्तिका भी दी गयी। वही चंद्रशेखर आजाद बस्ती के खेड़ापति हनुमान मंदिर में प्रतिदिन सुंदर कांड के गायन की शुरुवात की गई। उक्त जन जागरण अभियान के दौरान संबंधित बस्ती प्रमुख के साथ नगर टोली एवं बस्ती टोली के सदस्य उपस्थित थे।

मंडल कार्य योजना बैठक संपन्न

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महाअभियान में छोटी-खरगोन मंडल की कार्य योजना बैठक ग्राम करौंदिया में सम्पन हुई। जिसमे श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के जिला निधि प्रमुख भूपेंद्र चौहान ने करौंदिया निवासी कारसेवक बाबूलाल पाटीदार को श्रीफल देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर भूपेंद्र चौहान ने उपस्थित रामभक्तों को संबोधित करते हुए कहा कि प्रत्येक घर तक यह जानकारी प्राप्त हो कि 500 वर्ष की लंबी लड़ाई के बाद सकल हिंदू समाज के आराध्य प्रभु श्रीराम का मंदिर बनने जा रहा है जिसमें सभी रामभक्तों के समर्पण एवं सहयोग की अपेक्षा है।

यह भी पढ़े : मुख्यमंत्री ने दिए संकेत- MP में पत्थरबाजों के खिलाफ कानून ला सकती है सरकार

मेरा गाँव मेरी अयोध्या का संदेश एवं जन-जन को यह पता लगे कि इस मंदिर निर्माण कि शुभ बेला को प्राप्त करने के लिए 4 लाखों भक्तो का बलिदान हुआ है। इस बैठक में छोटी-खरगोन मंडल के मंडल संयोजक डॉ धर्मेंद्र पाटीदार, निधि प्रमुख डॉ मोहित पाटीदार, महेश्वर खंड के सहखण्ड कार्यवाह योगेश पाटिल, खण्ड टोली सदस्य बिहारी पाटीदार उपस्थित थे। बैठक का संचालन चेतन काग ने किया। जिसमें छोटी खरगोन, धरगांव, झापड़ी, मोगावा, सुल्तानपुर, चुदडिया आदि गांवों के रामभक्त उपस्थित थे।

Ritika Jaiswar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *