कोरोना संक्रमण रोकने के उद्देश्य से प्रशासन द्वारा फ्लैगमार्च, नर्मदा में विसर्जन प्रतिबंध पर कड़ाई से पालन करने का संदेश

अमन वर्मा, मण्डलेश्वर: महेश्वर एवं मण्डलेश्वर में निकाले फ्लैगमार्च में एसडीएम (अतिरिक्त प्रभार) संघप्रिय के नेतृत्व में. नगर परिषद एवं थाना प्रशासन ने नगर के मुख्य मार्ग पर फ्लैगमार्च निकाला.

नगर परिषदकर्मीयो में हाथों में फ्लेक्स एवं बैनर लेकर भी संक्रमण संबंधी संदेश प्रसारित किए. दोनो नगरों के थाना प्रशासन ने फ्लैगमार्च में प्रशासन की टिम के पीछे कदमताल किया. एसडीओपी मान सिंह ठाकुर, तहसीलदार देव शर्मा, नायब तहसीलदार सुनील सिसोदिया एवं अनिल मोरे दोनो नगरों में निकाले गए फ्लैगमार्च में शामिल रहे.

यह भी पढ़े: सरकारी लीज पर दी गई जमीन पर बहुत तेजी से हो रहे अवैध निर्माण?

कोरोना संक्रमण रोकने के साथ साथ, अनंत चतुर्दशी पर गणेश प्रतिमाओं एवं मुहर्रम पर ताजियों के नर्मदा में विसर्जन प्रतिबंध पर कड़ाई से पालन करने का संदेश देते हुए प्रशासन ने तहसील के दो प्रमुख नगरों में निकाला फ्लैगमार्च.

पिछले माह से जिले मे अचानक बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले को देखते हुए स्थानीय प्रशासन ने महेश्वर तहसील के दो प्रमुख नगर महेश्वर एवं मण्डलेश्वर के मुख्य मार्गो पर फ्लैगमार्च निकलते हुए लोगो को सावधानी बरतने के लिए प्रेरित किया.

नगर परिषद टीम द्वारा फ्लैगमार्च, कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी संदेश प्रसारित

महेश्वर एवं मण्डलेश्वर में निकाले गए फ्लैगमार्च में एसडीएम (अतिरिक्त प्रभार) संघप्रिय के नेतृत्व में नगर परिषद एवं थाना प्रशासन ने नगर के मुख्य मार्ग पर फ्लैगमार्च निकाला. फ्लैग मार्च के दौरान नगर परिषद की टीम द्वारा अनोउंसमेन्ट द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी संदेश भी प्रसारित किए गए.

बचाव संबंधी दिशा-निर्देशो को आम नागरिकों द्वारा पालन किया जाए

फ्लैगमार्च खत्म होने के बाद एसडीएम (अतिरिक्त प्रभार) संघप्रिय ने बताया कि उक्त फ्लैगमार्च कोरोना संक्रमण से बचाव संबंधी दिशानिर्देशो को आम नागरिकों द्वारा पालन किया जाए. इस संदेश को प्रसारित करने के उद्देश्य से किया गया था.

यह भी पढ़े: ग्वालियर: आसमानी माता मंदिर समिति के अध्यक्ष नवल माझी पर जानलेवा हमला

गणेश प्रतिमाओं एवं ताजियों का विसर्जन नर्मदा में पूर्णतः प्रतिबंधित

एसडीएम ने स्पष्ट शब्दों में बताया कि आगामी दिनों में अनंत चतुर्दशी एवं मुहर्रम त्योहार आने वाले है. जिसमे हिन्दू समाज द्वारा गणेश प्रतिमाओं एवं मुस्लिम समाज द्वारा ताजियों का विसर्जन किया जाता है. गणेश प्रतिमाओं एवं ताजियों का विसर्जन नर्मदा में पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा. इसके लिए दोनो नगरीय निकायों द्वारा वैकल्पिक व्यवस्थाएं की जाएगी जिसके बारे में निकाय प्रशासन द्वारा जानकारी उपलब्ध करवा दी जाएगी. ने मुख्य मार्ग पर द्वारा

यह भी पढ़े: सामाजिक एवं धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन पर यूपी सीएम योगी की रोक जाने नए आदेश क्या है?

Pratik Verma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *